अब प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों में 48 के बजाये 50 पैथालाजी जांचें नि:शुल्क होंगी

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 282

Bhopal: संचालनालय स्वास्थ्य ने जारी किये सभी सीएमओ को निर्देश
2 मई 2019। अब प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों और सौ बिस्तरों से अधिक वाले शासकीय सिविल अस्पतालों में 48 के स्थान पर 50 प्रकार की पैथालाजी जांचें नि:शुल्क होंगी। इस संबंध में संचालनालय स्वास्थ्य भोपाल ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों एवं सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षकों को निर्देश जारी कर दिये हैं।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने छह साल पहले 30 जनवरी 2013 के आदेश से सभी शासकीय अस्पतालों में 48 प्रकार की पैथालाजी जांचें नि:शुल्क की थीं। परन्तु अब कमलनाथ सरकार ने इन जांचों की संख्या बढ़ाकर 50 कर दी हैं। इन 50 जांचों में से 33 प्रकार की जांचें अस्पताल में ही करना अनिवार्य होंगी तथा शेष 17 प्रकार की जांचें आउट सोर्स के द्वारा बाहर कराई जा सकेंगी।
33 प्रकार की नि:शुल्क जांचों में शामिल हैं : एचबी, सीबीसी/सीबीपी, ईएसआर, प्लेटलेट काउन्ट, पीसीवी/हेमेटोक्रिट, बीटीसीटी, मलेरिया एन्टीजेंट-पीवी/पीएफ, पीबीएफ फार मलेरिया, जी-6 पीडी डेफिशियेन्सी, ब्लड ग्रुप एण्ड आरएच टाइप, सिकलिंग टेस्ट/सोल्युबल टेस्ट, यूरिन एल्बुमिन/शुगर, यूरिन प्रेगनेंसी टेस्ट, यूरिन माईक्रोस्कोपी, यूरिन स्पेशल टेस्ट, स्टूल आरएम, सीमन एनेलिसिस, स्पुटम एएफबी, ब्लड शुगर, रीनल फंक्शन टेस्ट, लीवर फंक्शन टेस्ट, लिपिड प्रोफाईल, सीपीके-एमबी, सीरम कैल्शियम, टायफाईड टेस्ट/वीडाल कार्ड, वीडीआरएल/आरपीआर/पीओसी, एच वन वीएजी, एचसीवी, एचबी एसएजी, आरए फैक्टर, डेंगू टेस्ट एवं स्किन सीमीयर फार एएफपी/लेप्रोसी, सीबीएनएएटी।

इसी प्रकार 17 प्रकार की आउट सोर्स से बाहर से कराई जाने वाली पैथालाजी जांचें हैं : पीटी, एपीटीटी, रेटीक्योलोकाईट काउन्ट, पीएस कमेंट/एनीमिया टाईपिंग, ट्रापिनिन-1, एचबीएआईसी, सीरम इलेक्ट्रोलाईट, एएसओ, चिकिनगुनिया आईजीएम एन्टीबाडी, सीएसएफ एनालिसिस, प्लीयूरल/एसेटिक/सिनोवियल फ्लुड एनालिसिस, सीआरपी क्वान्टिटेटिव, माईक्रोबायलाजी, थायराईड प्रोफाईल, हारमोनल एसे, पीएपी स्मीयर फार काईटोलाजी एवं टार्च टेस्ट। आउट सोर्स से की जाने वाली ये जांचें भी नि:शुल्क होंगी।

आयुष्मान भारत योजना में 30 अन्य जांचें भी आउट सोर्स होंगी :
उक्त के 50 जांचों के अलावा 30 अन्य प्रकार की जांचें जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पैकेज में सम्मिलित हैं, उन्हें केवल आयुष्मान भारत योजना के हितग्राहियों हेतु गाईडलाईन अनुसार आउट सोर्स किया जा सकेगा। ये 30 अन्य जांचें हैं : कूम्ब टेस्ट डायरेक्ट, कूम्ब टेस्ट इनडायेरेक्ट, एफएनएसी, एसएलडीएच, एस एमीलेस, बी-एचसीजी, पीएसए, एचएलए टायपिंग, ट्यूमर मार्कर, हिस्टोपैथलाजी-बायोप्सी, बोन मैरो एस्पीरेशन, एक्सफोलियेटिव काईओलाजी/काईटोपैथलाजी, डिजिट एक्स रे सर्विस, सीटी स्कैन सर्विसेस,
एमआरआई, सर्विसेस, यूएसजी एण्ड डाप्लर सर्विसेस, ए-स्केम, बी-स्केम, फिस्टुलोग्राम, सिनोग्राम, मेम्मोग्राम, इम्युनोएसे, फिश स्टडी, बोन स्केन, बेरियम स्टडी, सीटी एन्जीओग्राफी, 2 डी इको, ईईजी, पीएफटी एवं इन्डस्कोपी।

अन्य अस्पतालों अर्थात सौ बिस्तरों से कम के सिविल अस्पतालों में 32, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 28, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में 16 तथा उप स्वास्थ्य केंद्रों में 5 प्रकार की पैथालाजी जांचें पूर्व की तरह नि:शुल्क रहेंगी।
विभागीय अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार ने जिला अस्पतालों में नि:शुल्क पैथालाजी जांचों की संख्या में वृध्दि की है। कुछ जांचों के कम्पोनेंट में अलग-अलग जांचों का प्रावधान किया गया है। इससे नि:शुल्क जांचों की संख्या करीब 65 हो जाती हैं। इसके नये निर्देश जारी कर दिये गये हैं।



- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets