गन्ना अनुसंधान केंद्र की भूमि बदल दी

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: डिजिटल डेस्क                                                                         Views: 168

Bhopal: 24 नवंबर 2018। राज्य सरकार ने नरसिंहपुर जिले के बोहानी में चार साल पहले गन्ना अनुसंधान केंद्र स्थापित करने के लिये अवंटित भूमि बदल दी है। ऐसा अनुसंधान केंद्र के लिये अधिक भूमि की जरुरत होने के कारण किया गया है।

चार साल पहले 7 जनवरी 2014 के विभागीय अदेश से यह भूमि आवंटित की गई थी। उस समय कृषि कालेज भी खोलने का निर्णय हुआ था और दोनों के लिये एक ही स्थान पर यह भूमि आवंटित की गई थी। परन्तु बाद में कृषि कालेज खोलने का निर्णय निरस्त कर दिया गया तथा सिर्फ गन्ना अनुसंधान केंद्र खोलने का निर्णय लिया गया। चूंकि अनुसंधान केंद्र के लिये अधिक भूमि की जरुरत होती है इसलिये पूर्व का भूमि आवंटन निरस्त कर दिया गया और नवीन भूमि आवंटित करने का आदेश जारी किया गया है।

राज्य सरकार ने कृषि कालेज एवं गन्ना अनुसंधान केंद्र हेतु पूर्व में आवंटित 11.211 हैक्टेयर भूमि पुन: शासकीय प्रक्षेत्र बोहानी जिला नरसिंहपुर को लौटा दी है। इसके स्थान पर इसी प्रक्षेत्र के पटवारी हल्का क्रमांक 131 में उपलब्ध कुल 26.361 हैक्टेयर भूमि में से 25 हैक्टेयर भूमि गन्ना अनुसंधान केंद्र खोलने के लिये आवंटित की गई है तथा यह भूमि चक में है। इस नवीन भूमि का आधिपत्य भी जबलपुर स्थित जवाहरलाल नेहरु कृषि विवि को प्रदान कर दिया गया है। इस भूमि का आधिपत्य उक्त विवि को इस शर्त पर दी गई है कि बिना कृषि विभाग की अनुमति के उक्त भूमि का अन्य उपयोग नहीं होगा।

ज्ञातव्य है कि नरसिंहपुर जिला गन्ना बहुल है तथा यहां गन्ने की खेती बहुत ज्यादा होती है। इसीलिये यहां गन्ना अनुसंधान केंद्र खोलने का निर्णय लिया गया है। हांलाकि चार साल पहले आवंटित भूमि में यह केंद्र नहीं खुल पाया था। अब पुन: अधिक भूमि इस केंद्र हेतु आवंटित की गई है।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि बोहानी कृषि फार्म में गन्ना अनुसंधान केंद्र की भूमि बदल दी गई है और नवीन भूमि का आधिपत्य भी जेएन कृषि विवि को दे दिया गया है। ऐसा अनुसंधान केंद्र हेतु अधिक भूमि की जरुरत होने के कारण किया गया है।


- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets