शपथ ग्रहण से पहले यौन दुर्व्यवहार के मामले में ट्रंप पर मानहानि का मुक़दमा

Location: New Delhi                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 373

New Delhi: अमरीका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के ख़िलाफ़ यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाने वाली 41 साल की एक पूर्व रिऐलिटी शो प्रतिभागी समर ज़र्वास ने अब मानहानि का मुक़दमा दर्ज कराया है.

समर ज़र्वास ने आरोप लगाया है कि 2007 में ट्रंप ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया था. ज़र्वास ने कहा कि ट्रंप ने अपने व्यवहार को लेकर देश से झूठ बोला है.

मुक़दमा दर्ज कराने की घोषणा ज़र्वास ने एक न्यूज़ कॉन्फ्रेंस में की. उन्होंने इस न्यूज़ कॉन्फ्रेंस में कहा, "ट्रंप झूठे और महिला विरोधी हैं. ट्रंप ने मेरी मानहानि की है." यह ख़बर ट्रंप के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने से तीन दिन पहले आई है.

ज़र्वास ने कहा, "ट्रंप से मैंने आग्रह किया था कि उन्होंने मेरे बारे में जो कहा है उन शब्दों को वापस लें लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया. मेरे पास मुक़दमा दर्ज कराने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. मैंने सच को साबित करने के लिए मुक़दमा दायर किया है.'

ज़र्वास ने यह बात लॉस एंजेलेस में पत्रकारों से कही. ज़र्वास के साथ न्यूज़ कॉन्फ्रेंस में उनकी वकील ग्लोरिया एलर्ड भी थीं. ग्लोरिया डेमेक्रेटिक पार्टी की कार्यकार्ता हैं. उन्होंने कहा कि जांच लाई डिटेक्टर से की जानी चाहिए.

राष्ट्रपति चुनाव की रेस में ट्रंप के आने के बाद कई महिलाओं ने सामने आकर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था. ज़र्वास भी उन्हीं महिलाओं में से एक हैं. ज़र्वास ने कहा, "ट्रंप से वह नौकरी को लेकर बिवर्ली हिल्स होटल में मिलने गई थीं. उसी दौरान उन्होंने यौन हमला किया था. मैं उनसे बचकर निकली थी."

नव-निर्वाचित राष्ट्रपति ने इन आरोपों को खारिज करते हुए फ़र्ज़ी और बकवास बताया है. इसके साथ ही उन्होंने ज़र्वास पर क़ानूनी कार्रवाई की बात कही है.

हालांकि ट्रंप ने किसी भी महिला पर यौन हमले के आरोपों को लेकर अपने बचाव में मुक़दमा दर्ज नहीं कराया है. ज़र्वास ने अपने मुक़दमे में कहा है कि नव-निर्वाचित राष्ट्रपति ने इसे नकार दिया है और उन्होंने मेरे साथ अन्य महिलाओं पर यौन हमले के झूठे आरोप लगाने की बात कही है. ज़र्वास ने कहा कि उन्होंने ट्रंप से शब्दों को वापस लेने के लिए कहा था लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया था.

एलर्ड ने कहा कि ट्रंप महिलाओं पर कीचड़ उछालते रहते हैं. ज़र्वास ने कहा कि अगर ट्रंप ने उन्हें लेकर जो बयान दिया था उसे वापस ले लेते हैं तो वे मुक़दमा वापस ले लेंगी.

2005 में एक वीडियोटेप सामने आया था जिसमें ट्रंप महिलाओं पर भद्दी टिप्पणी करते दिखे थे. अमरीका के 45वें राष्ट्रपति बनने जा रहे ट्रंप पर यौन हमले के कई आरोप लगे हैं. इस वीडियो के सामने आने के बाद कई महिलाएँ सामने आईं थी. ज़र्वास भी उन्हीं महिलाओं में से एक हैं.


स्रोत - बीबीसी

Related News

Latest Tweets