सामंतशाही हो रही है इसलिए मैं आज ही लालबत्ती वापस करता हूं- नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 167

Bhopal: 24 मार्च 2017, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने शून्यकाल के दौरान आज खुद को मिलने वाली लालबत्ती छोड़ने की घोषणा की। उन्होंने सदन में कहा कि जिस तरह से पंजाब, उत्तरप्रदेश में लालबत्ती वहां की सरकारों द्वारा बंद की गई है। उसी तरह मध्यप्रदेश में भी इसे बंद किया जाना चाहिए। सिंह ने कहा कि ये नई सामंतशाही हो रही है। इसलिए मैं आज ही लालबत्ती वापस करता हूं। इस पर मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि पहले यह विचार क्यों नहीं आया तो नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि पहले भी जब मैं मंत्री था तो लाल बत्ती नहीं लगाई। इसकी जांच कराई जा सकती है।

157 लाख टन अनाज सड़ने की हो उइक जांच
सरकारी गोदामों में दो साल में 157 लाख टन अनाज सड़ने का मामला आज शून्यकाल में विधानसभा में उठा। विधायक तरुण भनोट ने सीबीआई जांच की मांग की और शराब माफिया के इशारे पर किया गया षड़यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि गरीब भूखे मर रहे हैं और सरकार अनाज नहीं बांट पा रही, वह गोदामों में सड़ रहा है। विधायक भनोट ने संसद में केंद्रीय खाद्य मंत्री के दो दिन पहले दिए बयान का हवाला देते हुए कहा कि चावल, गेहूं समेत अन्य अनाज की खराबी की जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दो सालों में 3800 करोड़ रुपए का अनाज सड़ने की बात केंद्र सरकार ने स्वीकार की है। राज्य सरकार इस पर अपना जवाब दे और जांच की घोषणा करे। शून्यकाल के दौरान ही विधायक सचिन यादव ने कहा कि उनके क्षेत्र में किसानों की सहमति के बिना गेहूं उपार्जन के बदले मिलने वाली राशि से कर्ज का समायोजन हो रहा है। इससे किसानों में आक्रोश है। सुखेन्द्र सिंह बना ने कहा कि हनुमना और रघुनाथ गढ़ में क्रेशर से प्रदूषण चल रहा। सड़कें खराब हो रही हैं। इस मामले में कार्रवाई हो।

वित्त अधिकार छीने तो पद पर क्यों हैं, सागर महापौर, कर रहे गड़बड़ी
सागर के महापौर अभय दरे को पद से हटाने का मामला आज विधानसभा में उठा। शून्यकाल में कांग्रेस के हर्ष यादव ने कहा कि रिश्वत मामले में आडियो सामने आने के बाद सरकार ने महापौर के वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार छीन लिए हैं फिर उन्हें पद से क्यों नहीं हटाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि महापौर मलिन बस्तियों में कराए जा रहे कामों में अनियमितता कर रहे हैं।

परीक्षा के बीच काटी 13 हजार गांवों की बिजली, 29 मार्च को कांग्रेस का आंदोलन

कांग्रेस विधायक मुकेश नायक ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार ने बिजली बिल न भरे जाने पर प्रदेश के 13 हजार गांवों की बिजली काट दी है। इससे परीक्षाओं के समय छात्रों को परेशानी हो ही रही है। फसल कटाई का समय होने के कारण किसान भी परेशान हैं। उन्होंने कह कि बिजली कंपनियों को फायदा देने की नीयत से सरकार ने अभी तक सब्सिडी के चार हजार करोड़ रूपए किसानों के खातों में ट्रांसफर नहीं किए है। उन्होंने कहा कि स्थिति नहीं सुधरी तो कांग्रेस 29 मार्च से पूरे प्रदेश में धरना आंदोलन करेगी।

Related News

Latest Tweets

Latest News