सूखे मेवे भी कृषि मंडियों में बिकेंगे...

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 293

Bhopal: 28 अगस्त 2019। प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में अब सूखे मेवे भी बिकेंगे। इसके लिये इन्हें कृषि उपज मंडी अधिनियम 1972 के तहत अधिसूचित कृषि उपज में शामिल किया गया है। इससे इनके उत्पादक किसानों को मंडियों में प्रतिस्पर्धात्मक दरें प्राप्त हो सकेंगी और उन्हें भुगतान भी विनियमित हो सकेगा। इन नई उपजों को मंडियों के अलावा अन्य कहीं नहीं बेचा जा सकेगा। इसके अलावा राज्य सरकार ने अधिसूचित कृषि उपजों की सूची में फल, सब्जियों और चटनी मसालों की सूची में कुछ और वस्तुयें जोडक़र इनका इजाफा किया है।
आगामी 25 सितम्बर के बाद ये नवीन कृषि उपजें अधिसूचित घोषित हो जायेंगी और इनका मंडियों में क्रय-विक्रय हो सकेगा। खास बात यह है कि राज्य सरकार ने इन नवीन कृषि उपजों के नाम अंग्रेजी भाषा में जारी किये हैं जबकि आम किसान इन अंग्रेजी नामों से वाकिफ नहीं हैं।

ये ड्राई फ्रूट्स यानि सूखे मेवे शामिल किये :
अधिसूचित कृषि उपजों में नई मद सोलह बनाई गई है जिसमें शीर्षक ड्राई फ्रूट्स यानि सूखे मेवे दिया गया है। इसमें आठ सूखे मेवे शामिल किये गये हैं। ये हैं : अल्मोंड यानि बादाम, एप्रीकोट खुबानी, ब्लैक रायसिन यानि काली किश्मीश, केशीवनट यानि काजू, कर्रेंट रायसिन यानि किश्मीश, डेट्स यानि खजूर, फिग यानि अंजीर, पिस्ताचिओ यानि पिस्ता तथा वालनट यानि अखरोट।

चटनी मसालों में यह शामिल किया :
चटनी मसाले तथा अन्य वस्तुऐं शीर्षक में अब तक 15 वस्तुये शामिल थीं जिनमें अब अजवाईन और किन्नामोन स्टिक्स शामिल की गई हैं। इससे इस सूची में कुल 17 वस्तुयें हो गई हैं।

फल में ये सम्मिलित किये :
अधिसूचित कृषि उपजों में फल शीर्षक के अंतर्गत अब तक 22 फल शामिल थे परन्तु अब इसमें सात नये फल और शामिल कर दिये गये हैं। ये हैं : चैरी, किन्नोव, लिची, मंडारिन यानि नारंगी, पीच यानि आड़ू , प्लम यानि बेर और स्ट्राबेरी। अब सूची में कुल 29 फल हो गये हैं।

सब्जियों में इन्हें शामिल किया गया है :
सब्जियां शीर्षक में अब तक 26 सब्जियां शामिल थीं परन्तु अब इनमें 13 सब्जियां और जोड़ दी गई हैं। इससे इनकी कुल संख्या 49 हो गई है। ये 13 नई सब्जियां हैं : बेबी कार्न, ब्रोकली, केप्सीकम यानि शिमला मिर्च, कोरियेन्डर लीव्स यानि धनिया पत्ती, करी लीव्स, ड्रमस्टिक्स, फेनुग्रीक लीव्स यानि कसूरी मैथी, घरकिन यानि खीरा, ग्रीन पीस यानि हरि मटर, मस्टर्ड लीव्स यानि सरसों की पत्तियां, स्नैक गोअर्ड, स्वीट कोर्न तथा जुकचिनी यानि तुरई।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि राज्य की कृषि उपज मंडियों में बिकने वाली अधिसूचित कृषि उपजों में सूखे मेवे की नई मद शामिल की गई है और इसके अलावा अन्य अधिसूचित फसलों की सूची में भी कुछ और वस्तुओं का इजाफा किया गया है। अभी इनके नाम तकनीकी रुप से अंग्रेजी भाषा में जारी किये गये हैं तथा बाद में इनके हिन्दी नाम भी जारी किये जायेंगे। ये नई उपजें छह हफ्ते बाद मंडियों में क्रय-विक्रय की जा सकेंगी।


- डॉ.नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets