ICICI-HDFC बैंक ने एफडी पर ब्याज दरें घटाई, कम होगा रिटर्न

Location: New Delhi                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 1509

New Delhi: 18 नवम्बर 2016, नोटबंदी के बाद अब लोगों को दूसरा झटका लगा है और एफडी पर ब्याज घट गया है. नोटबंदी के बाद बैंक डिपॉजिट में शानदार उछाल को देखते हुए आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक सहित प्रमुख बैंकों ने फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) के ब्याज दरों में 0.25 फीसदी तक की कमी की आज घोषणा की. डिपॉजिट में कमी के मद्देनजर आने वाले दिनों में बैंकों की कर्ज दरों में भी कमी हो सकती है.

आईसीआईसीआई बैंक ने घटाई एफडी पर ब्याज दरें

आईसीआईसीआई बैंक की वेबसाइट के अनुसार 390 दिन से 2 साल तक की फिक्स्ड डिपॉजिट के लिए ब्याज दर में 0.15 फीसदी की कमी की गई है. यह कल से प्रभावी हो गई. आईसीआईसीआई बैंक अब इन डिपॉजिट पर 7.10 फीसदी ब्याज देगा जबकि पहले यह दर 7.25 फीसदी थी.

एचडीएफसी बैंक की डिपॉजिट पर नई ब्याज दरें
इस बीच एचडीएफसी बैंक ने भी 1 से 5 करोड़ रुपये के बीच के बल्क डिपॉजिट पर 0.25 फीसदी की ब्याज दरें घटा दी हैं. बैंक की वेबसाइट के अनुसार नई दरें आज से लागू हो गईं हैं. एचडीएफसी बैंक के 1 साल के फिक्स्ड डिपॉजिट पर अब 6.75 फीसदी का ब्याज मिलेगा जो कि पहले 7 फीसदी की दर से मिल रहा था.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले एसबीआई और एक्सिस बैंक भी इस तरह की पहल कर चुके हैं. कल एसबीआई ने भी कल कुछ फिक्स्ड डिपॉजिट की मैच्योरिटी पर 0.15 फीसदी की दरें घटा दी हैं. एक्सिस बैंक ने भी अपने मार्जिनल कॉस्‍ट पर आधारित लेंडिंग रेट में 20 आधार अंक की कटौती की है.

नोटबंदी का असर

माना जा रहा है कि नोटबंदी के असर से बैंक में जबर्दस्त कैश आ चुका है जिसकी वजह से एफडी पर ब्याज घटाया गया है. लेकिन एक राहत की बात ये है कि आने वाले दिनों में बैंक अपने लोन पर भी ब्याज घटा सकते हैं यानी आपके होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन की ईएमआई घट जाएगी. एसबीआई चीफ इसका इशारा कर चुकी हैं तो लोगों को भी अब कर्ज सस्ते होने का इंतजार है.

कल तक एसबीआई ने 1,14,139 करोड़ रुपये के डिपॉजिट पिछले 7 दिनों में हासिल कर लिए हैं. 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद से 500 और 1000 रुपये के नोट बैंक में जमा कराने वालों की भीड़ उमड़ी हुई है.

एक अनुमान के बाद 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद से आज तक बैंकों के पास 4 लाख करोड़ रुपये का कैश जमा हो चुका है. पीएम मोदी के 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद से ही बैंकों में भीड़ लगी हुई है.

Related News

Latest Tweets

Latest News