बच्चों के आधार कार्ड बनवाने में अभिभावक नहीं दिखा रहे रुचि

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 392

Bhopal: 19 मई 2017, जिले में अभिभावक अपने बच्चों के आधार कार्ड बनवाने में रुचि नहीं दिखाने के चलते अपने बच्चों को लेकर आधार केन्द्र नहीं जा रहे हैं। अभिभावकों का आधार अपने छोटे बच्चों के आधार बनवाने में कोई उत्साह नहीं दिख रहा है। ऐसे में राजधानी में आधार बनाने की जिम्मेदारी महिला एवं बाल विकास विभाग को दी गई है।

आधार बनाने प्रशासन कर रहा नए-नए प्रयोग
महिला एवं बाल विकास विभाग के 15 सुपरवाइजर व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को टेबलेट दिए गए हैं। ये अधिकारी टेबलेट से आंगनवाड़ी केंद्रों में जाकर बच्चों के आधार कार्ड बना रहे हैं। जहां पर आधार बनवाने वाले बच्चों की संख्या अधिक होती है, वहां अधिकारी पहुंच जाते हैं। कभी-कभी तो यह टीम टेबलेट लेकर लोगों के घर भी पहुंच जाता है और आधार नंबर के लिए एनरोलमेंट कर देता है।
जिला कार्यक्रम अधिकारी उपासना राय ने बताया कि टेबलेट के माध्यम से सैकड़ों बच्चों के आधार एनरोलमेंट कर दिए गए हैं। यह कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी। ज्ञात हो कि भोपाल जिले में वर्तमान में 30 प्रतिशत बच्चों के आधार एनरोलमेंट नहंी हो सके हैं। इसके लिए जिला प्रशासन हर दिन नए-नए प्रयोग कर रहा है।

कलेक्टोरेट में खुला दूसरा आधार केंद्र
आधार कार्ड बनवाने को लेकर बड़ी संख्या में लोग इधर-उधर भटक रहे हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए ई-डिस्ट्रिक्ट सोसायटी ने आधार बनवाने के लिए कलेक्टर कार्यालय स्थित संत हिरदाराम नगर (बैरागढ़) सर्किल में एक और नया आधार केंद्र खोल दिया है। ज्ञात हो कि यहां पर पूर्व से ही एक आधार केन्द्र संचालित किया जा रहा है। नया आधार केन्द्र खुलने से अब यहां पर दो आधार केन्द्र हो गए हैं। दूसरा केंद्र आधार बनवाने व संशोधित कराने पहुंचने वालों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह केन्द्र खोला गया है।

एम्स व जेपी अस्पताल में भी खुले आधार केन्द्र
जहांगीराबाद स्थित सुल्तानिया जनाना अस्पताल व इंदिरा गांधी हॉस्पिटल में आधार सेंटर तो पहले ही संचालित हो रहे थे ताकि नवजात बच्चों से लेकर 5 वर्ष तक के बच्चों के आधार बन सकें। अब एम्स व 1250 अस्पताल में भी आधार सेंटर खोल दिए गए हैं, ताकि यहां पहुंचने वाले लोग भी अपना आधार बनवा सकें।

इनका कहना है -
छोटे बच्चों के आधार कार्ड बनवाने के लिए लोग आगे आएं, इसके लिए आधार एनरोलमेंट सेंटर अस्पतालों व कलेक्टर कार्यालय में खोले गए हैं। आंगनवाडिय़ों में टेबलेट के माध्यम से भी छोटे बच्चों के आधार बनवाए जा रहे हैं।
- दिशा नागवंशी, एडीएम भोपाल

Related News

Latest Tweets

Latest News