जीका वायरस का खौफ : सरकार ने जारी की ब्लड बैंकों को एडवाईजरी

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: डिजिटल डेस्क                                                                         Views: 453

Bhopal: 27 नवंबर 2018। राजधानी सहित पूरे प्रदेश में तेजी से फैल रहे जीका वायरस के खौफ का आलम यह है कि अब राज्य सरकारों को सभी ब्लड बैंकों को एडवाईजरी करना पड़ी है कि डोनर से ब्लड लेने के पहले यह देखा जाये कि उसकी ट्रेवल हिस्ट्री क्या है।
एडवाईजरी में कहा गया है कि ब्लड बैंकों को जीका वायरस के फैलाव के मद्देनजर डोनर के चयन में सावधानी बरती जाये। डोनर से उसकी ट्रेवल हिस्ट्री पूछी जाये। यदि डोनर जीका वायरस प्रभावित क्षेत्र से आया है तो चार हफ्ते तक उसका ब्लड नहीं लिया जाये। डोनर से रक्त लेने के पहले यह सुनिश्चित किया जाये कि वह संक्रमित तो नहीं है। इसी प्रकार, यदि कोई डोनर किसी वायरल इन्फेक्शन से प्रभावित है तो उसका ब्लड उस समय लिया जाये जब उसके वायरल इन्फेक्शन से ठीक होने के बाद दो सप्ताह बीत गये हों।

इसी प्रकार यह भी एडवाईजरी दी गई है कि यदि रक्तदान के बाद ब्लड डोनर को दो हफ्ते के अंदर जीका वायरस का सक्रमण होता है तो वह ब्लड डोनर इसकी सूचना ब्लड बैंक को अनिवार्य रुप से दे। ब्लड बैंकों को यह भी बताया गया है कि भारत सरकार की नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूजन कौंसिल ने अब तक जीका वायरस पहचानने वाले किसी भी रक्त जांच को एप्रूव नहीं किया है। इसी प्रकार, ब्लड बैंक जीका वायरस प्रभावित क्षेत्रों से ह्यूमन प्लाज्मा भी आयात नहीं करें।

इन्हें भेजी है एडवाईजरी :
राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत कार्यरत राज्य रक्ताधान परिषद ने उक्त एडवाईजरी संचालक एम्स भोपाल, बीएमएचआरसी भोपाल, शासकीय मेडिकल कालेज भोपाल/इंदौर/ग्वालियर/जबलपुर/रीवा के डीनों, सभी जिला मुख्य स्वास्थ्य अधिकारियों एवं सिविल सर्जनों, इंदिरा गांधी गैस राहत अस्पताल भोपाल, सिविल हास्पिटल इटारसी, भेल कस्तुरबा अस्पताल भोपाल, डब्ल्युसीएल बडक़ुई छिन्दवाड़ा, डब्ल्युसीएलपाथाखेड़ा बैतूल, बुढार सेन्ट्रल हास्पिटल एसईसीएल धनपुरी शहडोल, नेहरु शताब्दी चिकित्सालय सिंगरौली, समस्त इंडियन रेडक्रास सोसायटी ब्लड बैंक / प्रायवेट हास्टिपटल ब्लड बैंक/ चेरीटेबल ब्लड बैंक/वोलेन्ट्री आर्गनाईजेशन ब्लड बैंक/कमर्शियल ब्लड बैंक को भेजी है।

विभागीय अधिकारी ने बताया कि हमारे पास नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूजन कौंसिल की एडवाईजरी है जोकि वर्ष 2016 में जारी हुई थी। इसे ही हमने अभी जारी किया है। कौंसिल से बात हुई है जिसने नई एडवाईजरी एक हफ्ते में और भेजने के लिये कहा है। उसके आने पर इसे भी सभी ब्लड बैंकों को भेजा जायेगा ताकि जीका वायरस के फैलाव से निपटने के लिये एहतियात बरती जा सके।

- डॉ. नवीन जोशी

Related News

Latest Tweets