Lok Sabha election 2019: किस चरण में कहां, कब और कितनी सीटों पर होंगे चुनाव

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 1698

Bhopal: चुनाव आयोग ने किया ऐलान- 11 अप्रैल से शुरू होगी वोटिंग, 23 मई को आएंगे नतीजे
10 मार्च 2019। देश का सियासी भविष्य तय करने वाले लोकसभा चुनाव का इंतजार अब खत्म हो चुका है. चुनाव आयोग ने यहां ऐलान किया कि लोकसभा चुनाव के लिए इस बार 7 चरणों में मतदान होगा. लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा, वहीं 23 मई को चुनावों के नतीजे आएंगे. वहीं आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम में विधानसभा चुनावों के लिए लोकसभा के साथ वोट डाले जाएंगे. हालांकि जम्मू-कश्मीर में फिलहाल विधानसभा चुनाव नहीं होंगे.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने ऐलान किया कि पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल, दूसरे चरण की वोटिंग 18 अप्रैल, तीसरे चरण की वोटिंग 23 अप्रैल, चौथे चरण की वोटिंग 29 अप्रैल, पांचवें चरण की वोटिंग 6 मई, छठा चरण 12 मई और सातवें व अंतिम चरण की वोटिंग 19 मई को होगी.

पहले चरण में 20 राज्यों की 91 सीटें, दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटें, तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटें, चोथे चरण में 9 राज्यों की 71 सीटें, पांचवे चरण में 7 राज्यों की 51 सीटें, छठे चरण में 7 राज्यों की 59 सीटें और सातवें चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर चुनाव होगा.

दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में निर्वाचन आयोग (Election Commission Of India) की प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने साथ ही कहा, कोई भी इसका उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी देगी होगी. वहीं रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल वर्जित रहेगा.

पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को होगी. इसमें 20 राज्यों की 91 सीटों पर चुनाव होगा.

पहले चरण में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल, केरल, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, उत्तराखंड, अंडमान, दादरा-नागर हवेली, दमन-दीव, लक्षदीप, दिल्ली, पांडिचेरी में मतदान होंगे.

-कर्नाटक, मणिपुर, राजस्थान, त्रिपुरा में दो चरणों में मतदान होंगे.

-असम और छत्तीसगढ़ में तीन चरणों में चुनाव होंगे.

-झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और ओडिशा में चार चरणों में मतदान होगा.

-जम्मू कश्मीर में पांच चरणों में मतदान होगा.

-बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में सात चरणों में चुनाव होंगे.

पहले चरण में 11 अप्रैल को आंध्र प्रदेश की 25, असम की पांच, बिहार की चार, छत्तीसगढ़ की एक, जम्मू कश्मीर की दो, महाराष्ट्र की सात, मणिपुर की दो, मेघालय की दो, नगालैंड की एक, मिजोरम की एक, तेलंगाना की 17, उत्तर प्रदेश की आठ, उत्तराखंड की पांच, पश्चिम बंगाल की दो सीटों पर मतदान होगा.

दूसरे चरण की वोटिंग 18 अप्रैल को होगी. इसमें दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों पर चुनाव होगा.

दूसरे चरण में 18 अप्रैल को असम की पांच, बिहार की पांच, छत्तीसगढ़ की तीन, जम्मू कश्मीर की दो, कर्नाटक की 14, महाराष्ट्र की 10, मणिपुर की एक, ओडिशा की पांच, तमिलनाडु की 39, उत्तर प्रदेश की 8, पश्चिम बंगाल की तीन और पुदुच्चेरी की एक सीट पर वोट डाले जाएंगे.

तीसरे चरण की वोटिंग 23 अप्रैल को होगी. इसमें चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

तीसरे चरण में 23 अप्रैल को असम की चार, बिहार की पांच, छत्तीसगढ़ की सात, गुजरात की 26, गोवा की दो, जम्मू कश्मीर की एक, कर्नाटक की 14, केरल की 20, महाराष्ट्र की 14, ओडिशा की छह, उत्तर प्रदेश की 10, पश्चिम बंगाल की पांच, दादरा एवं नगर हवेली की एक, दमन व दीव की एक सीट पर वोटिंग होगी.

चौथे चरण की वोटिंग 29 अप्रैल को होगी. इसमें 9 राज्यों की 71 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

चौथे चरण में 29 अप्रैल को बिहार की पांच, जम्मू कश्मीर की एक, झारखंड की तीन, मध्य प्रदेश की छह, महाराष्ट्र की 17, ओडिशा की छह, राजस्थान की 13, उत्तर प्रदेश की 13 और पश्चिम बंगाल की आठ सीटों पर मतदान होगा.

(जम्मू-कश्मीर में आम चुनाव के साथ नहीं होगा विधानसभा चुनाव: चुनाव आयुक्त ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए यह घोषणा की.)

पांचवें चरण की वोटिंग 6 मई को होगी. इस चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

पांचवें चरण में 6 मई को बिहार की 5, जम्मू-कश्मीर की 2, झारखंड की 4, मध्य प्रदेश की 7, राजस्थान की 12, उत्तर प्रदेश की 14 और पश्चिम बंगाल की 7 सीटों पर मतदान होगा.

छठे चरण के वोट 12 मई को डाले जाएंगे. इस चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

छठे चरण में 12 मई को बिहार की 8, हरियाणा की 10, झारखंड की 4, मध्य प्रदेश की 8, उत्तर प्रदेश की 14, पश्चिम बंगाल की 8 और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

सांतवे व अंतिम चरण की वोटिंग 19 मई को होगी. आखिरी चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर चुनाव होगा.

सातवें चरण में 19 मई को बिहार की 8, झारखंड की 3, मध्य प्रदेश की 8, पंजाब की 13, पश्चिम बंगाल की 9, चंडीगढ़ की 1, उत्तर प्रदेश की 13 और हिमाचल प्रदेश की 4 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

बता दें कि आंध्र प्रदेश, अरुणाचल, सिक्किम और ओडिशा के विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग वहां होने वाले लोकसभा चुनाव की तारीखों पर ही होगी. तमिलनाडु सहित सभी राज्यों में उपचुनावों के लिए वोटिंग लोकसभा चुनाव के साथ ही होगी. तमिलनाडु की सभी 21 रिक्त विधानसभा सीटों पर उपचुनाव लोकसभा के लिए वोटिंग वाले दिन संपन्न किए जाएंगे.

Related News

Latest Tweets