प्रॉक्सिमा बी ग्रह पर जीवन ढूढ़ने में जुटे मार्क जकरबर्ग

Location: New York                                                 👤Posted By: वेब डेस्क                                                                         Views: 758

New York: सोशल साइड फेसबुक के फाउंडर मार्क जकरबर्ग, जाने-माने वैज्ञानिक डॉक्टर स्टीफन हॉकिंग्स और रूस के बिजनसमैन यूरी मिलनर ने 'एलियन्स' को तलाश करने के लिए एक प्रॉजेक्ट की शुरुआत की है। इस प्रॉजेक्ट के तहत पृथ्वी से 4 प्रकाशवर्ष दूर स्थित प्रॉक्सिमा बी ग्रह में जीवन तलाशने की कोशिश की जाएगी। इसके लिए इस ग्रह से आने वाले रेडियो सिग्नल सुए जाएंगे।

पिछले दिनों ऐस्ट्रोनॉमर्स ने दावा किया था कि हमारे सबसे निकटतम तारे प्रॉक्सिमा सेंटॉरी का एक ग्रह ऐसा है, जो पृथ्वी जैसा है। उनका कहना था प्रॉक्सिमा बी नाम के इस ग्रह की परिस्थितियां बहुत हद तक पृथ्वी की तरह जीवन के लिए अनुकूल हो सकती हैं।

हमेशा से डॉक्टर हॉकिंग्स कहते रहे हैं कि इस ब्रह्रांड में अनंत तारे हैं और उनके अनंत ग्रह हैं। ऐसे में यह कल्पना करना बेवकूफी है कि केवल हमारे ग्रह में जीवन है। उनका कहना है कि इसलिए हमें अन्य ग्रहों के जीवन को लेकर सावधान रहना चाहिए।

'मेल ऑनलाइन' की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के सबसे अमीर और बुद्धिमान लोगों में शुमार किए जाने वाले ये तीनों लोगों के इस प्रॉजेक्ट का नाम 'ब्रेकथ्रू लिसन' है। इस प्रॉजेक्ट में 100 मिलियन डॉलर्स का इन्वेस्टमेंट किया गया है।

यूरी मिलनर ने बताया, 'कुछ महीने पूर्व मार्क जकरबर्ग की मदद से स्टीफन हॉकिंग्स के साथ मिलकर हमने ब्रेकथ्रू स्टारशॉप प्रॉजेक्ट शुरू किया था। हमें उस वक्त सिर्फ उम्मीद थी कि सेंटॉरी के सिस्टम में एक ग्रह हो सकता है। मगर अब हमें पता है कि प्रॉक्सिमा बी में जीवन हो सकता है, इसलिए हमारे पास तय उद्देश्य है।'

भले ही प्रॉक्सिमा बी हमारे ग्रह से 4 प्रकाशवर्ष दूर है, मगर आने वाले टाइम में ऐसे स्पेसक्राफ्ट होंगे जो कुछ दशकों में ही इस दूरी को तय कर लेंगे। अक्टूबर की शुरुआत में ब्रेकथ्रू लिसन टीम प्रॉक्सिमा बी ग्रह से आने वाले नैचरल बैकग्राउंड नॉइज से अलग रेडियो तरंगों को सुनने की कोशिश करेगी।

वेस्ट वर्जीनिया एवं लिक ऑब्जर्वेटरी कैलिफॉर्निया के ब्रेकथ्रू लिसन टीम ने ऑटोमेटेड प्लैनेट फाइंडर की मदद से अन्य स्टार सिस्टम्स की इनफार्मेशन को कलेक्ट कर लिया है। प्रॉक्सिमा बी के साउंड सुनने के लिए अब दुनिया के सबसे पावरफुल टेलिस्कोप इस्तेमाल किए जाएंगे।

Related News

Latest Tweets