निक्की की नियुक्ति से अमेरिका में झूम रहा भारतीय समाज

Location: वॉशिंगटन                                                 👤Posted By: DD                                                                         Views: 503

वॉशिंगटन: अमेरिका में पार्टी लाइन से ऊपर उठकर पूरी भारतीय बिरादरी निक्की हेली (44) को संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत बनाए जाने पर खुशी व्यक्त कर रही है। इसे अमेरिका में भारतीयों की मजबूती के तौर पर देखा जा रहा है।

माना जा रहा है कि इससे अमेरिका और भारत की नजदीकी और बढ़ेगी। उल्लेखनीय है कि निक्की अमेरिकी सरकार में कैबिनेट मंत्री की हैसियत वाला पद पाने वाली पहली महिला हैं।

रिपब्लिकन पार्टी की नेता संपत शिवांगी के अनुसार नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह फैसला भारत और अमेरिका के रिश्ते को और मजबूत करेगा। यह ट्रंप का बहुत बड़ा कदम है। इससे भारत को संयुक्त राष्ट्र में बहुत नजदीकी मित्र मिलेगी। इससे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की दावेदारी को और मजबूती मिलेगी।

सिलिकॉन वैली में भारतीय उद्यमी एम रंगास्वामी संयुक्त राष्ट्र के लिए निक्की की नियुक्ति बहुत अच्छा कदम है। साउथ कैरोलिना में गवर्नर के तौर पर उनका विदेशी सरकारों और विदेशी कंपनियों के साथ अच्छा तालमेल रहा है।

निक्की के भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी अच्छे संबंध हैं। ट्रंप के प्रचार अभियान से जुड़े रहे पुनीत अहलूवालिया के अनुसार यह नियुक्ति भारतीय मूल के सभी लोगों के गौरवान्वित होने वाला मौका है।

न्यूयॉर्क में भारतीय मूल के बड़े वकील रवि बत्तरा खुशी से आह्लादित हैं। कहते हैं- अब अमेरिका की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की टेबिल पर निक्की हेली बैठेंगी। यह सोचकर ही हर भारतीय का मन खुशी से भर जाता है। टेक्सास के कारोबारी अशोक मागो के अनुसार यह तो अभी शुरुआत है। भारतीय अपने समर्पण और मेहनत से अमेरिका में और भी सीढ़ियां चढ़ेंगे।

भारतीयों के बढ़ते प्रभाव का संकेत

अमेरिका में रिपब्लिकन हिंदू कोएलिशन के संस्थापक शलभ कुमार के अनुसार निक्की हेली की संयुक्त राष्ट्र के लिए नियुक्ति भारतीय समुदाय के लिए तीसरी दीपावली है, जो असली त्योहार और हाल में ट्रंप की जीत के बाद आई है। संसद के लिए चुनाव जीते पांच लोगों के बाद निक्की की नियुक्ति अमेरिकी राजनीति में भारतीयों के बढ़ते प्रभाव का संकेत है।

Related News

Latest Tweets