नाभा जेल ब्रेक: खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर मिंटू गिरफ्तार, पांच अब भी फरार

Location: चंडीगढ़                                                 👤Posted By: PDD                                                                         Views: 499

चंडीगढ़: 28 नवम्बर 2016, पंजाब की नाभा जेल से फरार कैदियों में से एक खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हरमिंदर सिंह पांच कैदियों के साथ कल जेल से फरार हुआ था.

चंडीगढ़ में पंजाब पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, "दिल्ली पुलिस ने दिल्ली रेलवे स्टेशन से मिन्टू को गिरफ्तार कर लिया." उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस की खुफिया सूचना के आधार पर खूंखार आतंकवादी को गिरफ्तार कर लिया."

अधिकारी ने बताया, "हमने मिन्टू के बारे में सूचना दी थी जिसके अधार पर दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया." उन्होंने बताया कि पंजाब पुलिस की एक टीम उसे लाने के लिए दिल्ली जाएगी.

कौन हैं आतंकी हरमिंदर मिंटू?

आपको बता दें कि जेल से भागा आतंकी हरमिंदर मिंटू खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का चीफ था. मिंटू को पंजाब पुलिस ने 2014 में दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया था. हरमिंदर मिंटू पर 2008 में सिरसा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर हमले का आरोप है. साथ ही 2010 में हलवारा एयरफोर्स स्टेशन से विस्फोटक लूटने का भी आरोप है. वो पंजाब में शिवसेना के तीन नेताओं की हत्या की साजिश रचने के केस में भी आरोपी है.

हरमिंदर भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI से भी ट्रेनिंग ले चुका है. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक आईएसआई मिंटू को पैसों और हथियार से मदद करती है.

यूपी के शामली से मास्टरमाइंड गिरफ्तार

पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए दिनदहाड़े जेल तोड़कर भागने की इस वारदात के कथित मास्टरमाइंड परमिंदर सिंह को उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कैराना से गिरफ्तार कर लिया. उसे तब गिरफ्तार किया गया जब एक पुलिस पिकेट पर टोयोटा फॉर्च्यूनर नाम की गाड़ी को रोका गया. पंजाब पुलिस प्रमुख सुरेश अरोड़ा के मुताबिक, भागने वालों में आतंकवादी कश्मीरा सिंह भी शामिल है.

कैसे दिया गया वारदात को अंजाम

पुलिस प्रशासन के मुताबिक कल सुबह 8 बजे पांच हमलावर अपने दो आतंकी साथियों को छुड़ाने के लिए नाभा जेल पहुंचे. सुरक्षाकर्मियों को चकमा देने के लिए चार हमलावर पुलिस की वर्दी में थे, जबकि उनका पांचवां साथी सादी वर्दी में हथकड़ी पहने हुआ था. जेल में तैनात सुरक्षाकर्मियों को लगा कि चार पुलिसवाले किसी कैदी को लेकर जेल में रखने आए हैं.

उनकी इसी गफलत का फायदा उठाकर पांचों हमलावर बिना किसी खास परेशानी के जेल के अंदर पहुंच गए. जेल के अंदर जाते ही हमलावरों ने सुरक्षाकर्मियों को बंधक बना लिया और जेल के अंदर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे. इसके बाद हमलावर अपने दो आतंकी साथियों हरमिंदर मिंटू और कश्मीर सिंह को लेकर फरार हो गये.

जेल में मची अफरातफरी का फायदा उठाकर उनके साथ साथ दूसरे चार और कैदी भी फरार हो गये. चश्मदीदों के मुताबिक जेल की सुरक्षा में तैनात वर्दीवाले सिर्फ हवाई फायर करने के सिवाए कुछ भी नहीं कर पाए. और तो और, जेल से भागते समय हमलावरों ने पुलिसवालों से उनकी बंदूके भी छीन ली थी.

जेल से बाहर आने के बाद हमलावर अपने दोनों आतंकी साथियों के साथ कार में फरार हो गए. फरार होते समय वो लगातार फायरिंग कर रहे थे ताकि कोई उनके करीब नहीं आ सके.

वारदात की तस्वीरें सीसीटीवी में कैद

सीसीटीवी की तस्वीरों में वो गाड़ियां कैद कर ली गई हैं, जिनसे आतंकी फरार हुए. सफेद रंग की एक फॉर्च्युनर गाड़ी और उसी के पीछे चलती एक सफेद रंग की कार से आतंकी भागे हैं. आतंकी गाड़ियों में सवार होकर तेज रफ्तार से भागे लेकिन आगे रेलवे का फाटक बंद होने की वजह से उन्हें गाड़ी पीछे मोड़नी पड़ी. सीसीटीवी की तस्वीरों में उन गाड़ियों को लौटते हुए की भी तस्वीरें कैद हुई हैं. लौटते वक्त फॉर्च्युनर की डिक्की खुली हुई थी और दूसरी कार में सवार आतंकियों ने सड़क पर वो बूंदक भी फेंक दी जो उन्होंने जेल के अंदर पुलिसवालों से छीनी थी.

डीजी जेल सस्पेंड, हरियाणा को अलर्ट पर रखा गया

नाभा जेल से फरार मामले में अब कार्रवाई भी होने लगी है. पंजाब के डीजी जेल को सस्पेंड कर दिया गया है. इसके साथ ही नाभा जेल अधीक्षक और उपाधीक्षक को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है. पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक सभी फरार बदमाश पंजाब से हरियाणा सींमा की ओर भागे हैं. इसी के चलते हरियाणा पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है.

आपको बता दें कि नाभा जेल को बेहद हाई सिक्योरिटी जेल माना जाता है. इस जेल के बारे में कहा जाता है कि ये पंजाब कि बाकी सभी जेलों में सबसे सुरक्षित जेल है. इस बीच जेल पुलिस के जवाबी फायरिंग ना करने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. फिलहाल सभी आला अधिकारियों को घटना की जानकारी दे दी गई है और जांच भी शुरू हो चुकी है.

पुलिस इस फरार बदमाशों को पकड़ने की कोशिश कर रही है. नाभा जेल प्रशासन का कहना है कि उन्हें लगा कि शायद सामान्य रूप से जो पुलिस की गाड़ी आती है कैदियों को पेश करने के लिए उसी में से कोई टीम आयी है.

कौन है विकी गोंडर?

जिन 6 कैदियों को हथियार बंद बदमाश भगा कर ले गए उनमें गैंगस्टर विकी गोंडर भी शामिल है. विकी गोंडर मुक्तसर का रहने वाला है. उसने कपूरथला में हाईवे पर पुलिस कस्टडी में एक दूसरे गैंगस्टर सुख्खा कांलवा की सरेआम हत्या कर दी थी. उसने हत्या करने के बाद सड़क पर भांगड़ा भी किया था.

Related News

Latest Tweets

Latest News