डूबने से होने वाली मौतों से बचाव विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: प्रतिवाद                                                                         Views: 402

Bhopal: 10 फरवरी, 2017, विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में प्रतिदिन 1008 लोगों की डूबने से मौत हो जाती है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2014 में भारत में 11,884 लोग डूबने से अपनी जान गंवा बैठे थे इनमें से 4054 मृतक 14 वर्ष से कम उम्र के थे। तमिलनाडु में हुए एक अध्ययन में पता चला है कि 90 प्रतिशत मामलों में 1 से 12 वर्ष उम्र के बच्चे पानी के स्टोरेज टैंक, बर्तन, गड्ढों, कुंओं या तालाबों आदि में डूबने से असमय ही काल के गाल में समा गये। उक्त आशय की जानकारी आज मंदार एण्ड नो मोर मिशन के संस्थापक विश्वास घुसे ने एक पत्रकार वार्ता में दी।

होने जा रही नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष राहुल कोठारी ने बताया कि रोटरी क्लब भोपाल ईस्ट तथा भोपाल मैनेजमेंट एसोसिएशन -बीएमए- मंदार एण्ड नो मोर मिशन के साथ मिलकर डूबने से होने वाली मौतों से बचाव विषय पर 12 फरवरी को स्थानीय होटल पलाश में अपनी तरह के पहली राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन करने जा रहे हैं। प्रातः 9.30 बजे आरंभ होने वाली इस संगोष्ठी को विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिष्ठित हस्तियों द्वारा संबोधित किया जाएगा। मंत्री विश्वास सारंग इस संगोष्ठी का औपचारिक उद्घाटन करेंगे। जिन प्रमुख वक्ताओं द्वारा इस संगोष्ठी का संबोधित किया जाएगा उनमें मिसेस इंडिया क्लासिक अर्थ 2016 जया महेश, सीनियर इंटरनेशनल एजूकेटर, केलीफोर्निया जेनिस आस्टिन, जागरण लेकसिटी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर अनूप स्वरूप, योग गुरू राकेश धनेरिया, भाजपा के राज्य प्रवक्ता राहुल कोठारी, बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय के पूर्व वाइस चांसलर डॉ. रामप्रसाद, रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट रमेश खुराना, रोटरी क्लब इंटरनेशनल के डिस्ट्रिक्ट गवर्नर रोटेरियन दर्शन सिंह गांधी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की एसोसिएट प्रोफेसर मुनीरा टी, लीगल काउंसल श्रीनिवास जोशी तथा रेडियो जॉकी पीहू शामिल हैं।

Related News

Latest Tweets