दो दिवसीय भोपाल एन्डोक्राइन कनेक्ट में जुटेंगे देश के दिग्गज चिकित्सक

Location: Bhopal                                                 👤Posted By: Admin                                                                         Views: 1190

Bhopal: 22 दिसम्बर 2017: निसंतानता, प्रेग्नेन्सी और मोटापे में थायरायड व डायबिटीज से पड़ने वाले प्रभावों और डायबिटीज की रोकथाम की दिशा में विश्वभर में हुई नई खोजों पर चर्चा हेतु कोर्टयार्ड बाय मैरियट, भोपाल में 23 व 24 दिसम्बर को देश के जाने माने चिकित्सक जुटेंगे। मौका होगा रिसर्च एण्ड साइंटिफिक सोसायटी, गांधी मेडीकल कॉलेज तथा दि फेडरेशन ऑफ गायनोकोलॉजिकल सोसायटीज ऑफ इंडिया, भोपाल (फॉग्सी) द्वारा आयोजित किये जा रहे राष्ट्रीय अधिवेशन - भोपाल एन्डोक्राइन कनेक्ट - का। इस दो दिवसीय कार्यक्रम में रिसर्च पेपर प्रस्तुत करने व अनुभव साझा करने के साथ साथ बहुत सी भ्रांतियों को दूर करने पर परिचर्चा का आयोजन होगा। साथ ही इस दौरान डायबिटीज इन प्रेग्नेन्सी नामक न्यूजलेटर का विमोचन भी किया जायेगा।

उक्त आशय की जानकारी आज आयोजित एक पत्रकार वार्ता मंे कार्यक्रम आयोजन समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर (डॉ.) के के कावरे तथा सचिव डॉ. सचिन चित्तावर ने दी। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में जिन एन्डोक्राइन विशेषज्ञों की मौजूदगी रहेगी उनमें जहां एक ओर भोपाल के वरिष्ठ चिकित्सक -डॉ. एन.पी. मिश्रा, डॉ. पी.सी. मानोरिया, डॉ. सुशील जिंदल सहित डॉ. प्रिया चित्तावर शामिल रहेंगे तो वहीं दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान आदि से डॉ. समीर अग्रवाल, डॉ. राजीव सिंगला, डॉ. सप्तर्षि भट्टाचार्य, डॉ. दीपक खण्डेलवाल, डॉ. विनीत सुराना, डॉ. जूही अग्रवाल, डॉ. विराज जायसवाल तथा डॉ. अतुल ढींगरा आदि की उपस्थिति रहेगी।

डॉ. कावरे ने कहा कि इस आयोजन का उद्देश्य डायबिटीज व थायरायड की चिकित्सा में आ रहे नवीनतम बदलावों व खोजों को इलाज में शामिल कर चिकित्सकों में अंतरराष्ट्रीय स्तर की दक्षता को विकसित करने में सहायता प्रदान करना है।

डॉ. चित्तावर ने कहा कि इस कार्यक्रम का प्रमुख आकर्षण टाइप 2 डायबिटीज पर हुई अंतरराष्ट्रीय रिसर्च पर चर्चा रहेगी जिसमें यह बात सामने आई है कि एक निश्चित समय तक डायबिटीज पीड़ित मरीजों को घटी हुई कैलोरी का भोजन व जरूरी दवाएं देने पर वे डायबिटीज से पूरी तरह मुक्त हो जाते हैं। दूसरा आकर्षण डायबिटीज व थायरायड पीड़ित महिलाओं के गर्भ को भ्रांतियों के चलते अनावश्यक रूप से गिराने पर की जाने वाली चर्चा होगी।

Related News

Latest Tweets

Latest News