दिवाली का इमोशनल धमाका- 'ऐ दिल है मुश्किल'

Location: Mumbai                                                 👤Posted By: Digital Desk                                                                         Views: 701

Mumbai: फ़िल्म - ऐ दिल है मुश्किल
निर्देशक - करण जौहर
रेटिंग - ***1/2

इस साल की सबसे विवादित और चर्चित रही फ़िल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' मुश्किलों से ही सही, आख़िरकार दिवाली पर ही रिलीज़ हुई और फ़िल्म के पहले शो में ख़ासे दर्शक भी जुटे.

करण जौहर की इस फ़िल्म में एक्शन छोड़कर बॉलीवुड का हर वो मसाला है जो दर्शकों को हंसा, रुला और भावुक कर सकता है.
इस फ़िल्म को देखकर कहा जा सकता है कि करण जौहर को लव स्टोरी डायरेक्ट करना बहुत अच्छे से आता है.

एक दर्शक का कहना था कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने इस फ़िल्म की मुफ़्त में पब्लिसिटी कर दी और फ़िल्म से जुड़ा विवाद भी आधे से ज़्यादा लोगों को यहां खींच लाया.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने इस विवाद में सिर्फ़ एक पाकिस्तानी कलाकार, फ़वाद ख़ान का नाम उछाला.

लेकिन फ़िल्म में एक नहीं, दो-दो पाकिस्तानी कलाकार हैं, फ़वाद के साथ साथ फ़िल्म में इमरान अब्बास भी हैं लेकिन प्रोमो में सिर्फ़ फ़वाद का चेहरा दिखने के कारण वही विवादों में घिरे.

वैसे फ़वाद फ़िल्म में बस कुछ ही देर के लिए थे, फ़िल्म में उनका किरदार भी बड़ा नहीं हैं.

फ़िल्म की कहानी टिपिकल करण जौहर की फ़िल्म की तरह है, जहां दो अलग-अलग दुनिया के लोग एक-दूसरे से मिलते हैं, उनमें प्यार होता है, फिर दूरी आती है और फिर हालात उन्हें वापस मिलाते हैं.

अब इसके आगे के लिए आपको फ़िल्म देखनी पड़ेगी क्योंकि पहली बार करण जौहर ने अपने सेट फ़्रेम से बाहर आकर एक प्रेम कहानी रचने की कोशिश की है.

करण की फ़िल्म में थोड़ा-थोड़ा इम्तियाज़ अली का टच नज़र आता है और इसका एक कारण फ़िल्म में रणबीर कपूर का गायक होना भी हो सकता है.

फिल्म रॉकस्टार की तरह ही इस फिल्म में भी रणबीर कपूर एक गायक की भूमिका में है, फिल्म तमाशा वाले रणबीर कपूर की झलक भी इस फिल्म में नज़र आती है.

ये कहा जा सकता है कि रणबीर बहुत टाइप्ड हो गए हैं और वो एक ही तरह के रोल या हारे हुए आशिक़ के रोल कर रहे हैं.
वैसे बॉम्बे वेलवेट और तमाशा की असफलता के बाद रणबीर को एक अदद हिट की ज़रूरत है जो यह फ़िल्म उन्हें दिला सकती है.

फ़िल्म में मुख्य अभिनेत्री अनुष्का हैं जो रणबीर को चाहती तो हैं लेकिन उन्हें प्यार नहीं करती और वहीं एक ऐश्वर्या राय हैं जो रणबीर को पसंद तो है लेकिन उनसे प्यार नहीं है.

अनुष्का जहां फ़िल्म में चुलबुली ख़ुशनुमा किरदार की तरह नज़र आती हैं वहीं ऐश्वर्या ने एक तलाक़शुदा शायरा का किरदार निभाया है और शायद अपने करियर के सबसे बोल्ड सीन इस फ़िल्म में दिए हैं.
फ़िल्म में एक दृश्य में सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान भी दिखते हैं और जब वो दिखते हैं हॉल में सीटियां गूंजती है लेकिन क्यों और कैसे इसे सस्पेंस रहने देते हैं.

कुल मिलाकर यह फ़िल्म एक जटिल प्रेम कहानी है लेकिन निर्देशक ने इसे कहीं भी उलझने नहीं दिया है.

फ़िल्म देखने आए दर्शकों ने फ़िल्म को पसंद किया और किसी ने तीन तो किसी ने दो स्टार दिए, लेकिन फ़िल्म के संगीत को लोगों ने 5 में से 5 अंक दिए.

आज से कुछ महीने पहले फ़िल्म सुल्तान में अपना एक गाना न हटाने के लिए सोशल मीडिया पर सलमान ख़ान की मिन्नतें करते दिखे गायक अरीजीत सिंह ने इस फ़िल्म में कमाल की गायिकी की है.

फ़िल्म में मिनट भर के लिए आया उनका गाना "चन्ना मेरेया" लोगों की ज़ुबां पर थिएटर से निकलने के बाद भी चढ़ा हुआ था.

इस फ़िल्म का सामना करने के लिए अजय देवगन की शिवाय भी रिलीज़ हुई है, और एक एक्शन और एक रोमांटिक फ़िल्म होने के कारण आप दोनों की तुलना नहीं कर सकते.

लेकिन दोनों फ़िल्मों को देखने के बाद आप बेशक ए दिल है मुश्किल को बेहतर मानेंगे.

साढ़े तीन स्टार, पहला कमाल के गीत संगीत के लिए, दूसरा अच्छे अभिनय के लिए, तीसरा करण जौहर के बेहतर निर्देशन के लिए और आधा स्टार इतना विरोध सहने के बाद भी डटे रहने के लिए.

यह फ़िल्म इस साल की सबसे बड़ी हिट बन सकती है लेकिन अभी तो 'दंगल' बाकी हैं और आमिर किसी से कम हैं क्या ?



- बीबीसी

Related News

Latest Tweets